दिनांक 1 अक्तूबर से 5 अक्तूबर तक चार दिवसीय नेपाल यात्रा पर रहा

दिनांक 1 अक्तूबर को अपराह्न लगभग 3 बजे एयर इंडिया के विमान से नेपाल की राजधानी काठमांडू पहुंचा। नेपाल स्थित भारतीय दूतावास एवं स्थानीय राजनीतिक दलों के कुछ प्रतिनिधियों ने हमें एयरपोर्ट पर रिसीव किया। चार दिवसीय नेपाल यात्रा का आज पहला दिन था। काठमांडू के एक अत्यंत प्राचीन एवं वर्ड डिक्लेयर हेरिटेज होटल द्वारिका में मेरे ठहरने की व्यवस्था की गयी थी। अनेकों विविध क्षेत्रों के लोगों के साथ वार्तालाप का क्रम देर रात तक चला। काठमांडू आकर हमने पशुपति नाथ मंदिर जाकर बाबा भोलेनाथ का दर्शन किया। सहयोगीयों एवं मित्रों के साथ दर्शन-पूजन की अनुभूति सर्वथा अत्यंत अद्वितीय तथा आनंददायक होती है। काशी विश्वनाथ की नगरी का रहने वाला मै, पशुपति नाथ की नगरी में पहुंचकर दोनों देशों के बीच एक राजनीतिक सीमा तो अवश्य देखा किन्तु हमें सामाजिक एवं सांस्कृतिक सीमा का तो आभास भी नहीं हुआ। सामाजिक एवं सांस्कृतिक रूप से दोनों देश एक प्रतित हुए। पशुपति नाथ की भूमि को मेरा शत-शत नमन है।

Nepal Yatra 2019-1
Nepal Yatra 2019-2
Nepal Yatra 2019-3
Nepal Yatra 2019-4

कल 2 अक्तूबर को राष्ट्रपिता महात्मा गांधी और लाल बहादुर शास्त्री जी का जन्मदिन था। बापू ने अंग्रेजों से एवं शास्त्री जी ने भुखमरी से देश को आज़ादी दिलवाई थी। उन्हें कल संपूर्ण देश ने शत-शत नमन किया। अपनी नेपाल यात्रा के दूसरे दिन मैं नेपाल की राजधानी काठमांडू में महेंद्र नारायण निधि स्मृति प्रतिष्ठान द्वारा आयोजित अन्तराष्ट्रीय अहिंसा दिवस एवं 150वीं गांधी जयन्ती पर भागीदारी हेतु सम्मिलित हुआ। कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व विदेश मंत्री श्री सलमान खुर्शीद जी से भी मंच पर मुलाकात हुई। हजारों उपस्थित लोगों की अपेक्षा और उत्सुकता हमारे अभिव्यक्ति के प्रति स्पष्ट थी। साम्यवादी वैचारिकी पर आधारित वर्तमान नेपाल सरकार की चीन से निकटता और नेपाल के नागरिकों मे सी-पथ की चर्चा को हमने अपने उद्बोधन में स्पष्ट किया। हमने कहा कि इतिहास जानता है कि आप चाहें ए-पथ, बी-पथ, सी-पथ या जेड-पथ पर चलें किंतु नेपाल का कल्याण तो जी-पथ यानी गांधी पथ से ही संभव है।मंच पर नेपाल के अत्यंत वरिष्ठ नेतागण में श्री शेर बहादुर देउवा, श्री रामचंद्र पुडेल, श्री विमलेन्द्र निधि, श्री कृष्ण प्रसाद सिटौला, श्री पुरुषोत्तम दाहाल एवं श्री मंजिब सिंह पूरी (भारतीय राजदूत) इत्यादि ने अपने विचार व्यक्त किये। इसी प्रकार अनेकों नेताओं, विशिष्ट लोगों एवं बुध्दिजीवियों से भेंट वार्ता का क्रम देर रात्रि तक चला।

Nepal Yatra 2019-1
Nepal Yatra 2019-2
Nepal Yatra 2019-3
Nepal Yatra 2019-4
Nepal Yatra 2019-5

नेपाल प्रवास के तीसरे दिन प्रातः 8 बजे श्री प्रकाश मान सिंह पूर्व उप-प्रधानमंत्री नेपाल सरकार के आवास पर एवं 9:30 बजे श्री शेर बहादुर देउबा जी पूर्व प्रधानमंत्री नेपाल सरकार के आवास पर भेंट हुई। भेंट वार्ता के मध्य भारत-नेपाल मित्रता, हमारे प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी का पर्यावरण संरक्षण पर विश्व समुदाय से की गई अपेक्षा एवं आतंकवाद के विरुद्ध युद्ध के लिए एकजूटता जैसे विषयों पर चर्चा हुई। लगभग 11 बजे ‘राइट टू लाॅ’ नामक एक अन्तर्राष्ट्रीय अभियान की बैठक में सम्मिलित हुआ। बैठक में बड़ी संख्या में वालिंटियर्स की उपस्थिति रही। कानून के प्रति सजगता एवं आदर्श नागरिकता हेतु कानून का न्यूनतम ज्ञान कितना आवश्यक है, इस विषय पर बैठक में लंबी चर्चा हुई। तत्पश्चात लगभग 1:30 बजे होटल लौटकर बड़ी संख्या में उपस्थित काठमांडू के प्रमुख पत्रकार बंधुओं के साथ वार्ता का अवसर मिला। धारा 370, भारत-नेपाल मित्रता के मध्य खड़ी हो रही चीन की दीवार, हिंदुत्व एवं हिन्दू राष्ट्र इत्यादि विषयों पर पूछें गये प्रश्नों का उत्तर देने में आनंद आया। सायंकाल काठमांडू से थोड़ी दूर पर अवस्थित पाटन नामक पुरातत्व की दृष्टि से महत्वपूर्ण स्थान को देखने गया। विशाल हेरिटेज की विरासत को संभाले ऐसे स्थान को देखकर बड़ी प्रसन्नता हुई। वहीं कृष्ण मंदिर, भीमसेन मंदिर के साथ एक अत्यंत प्राचीन संग्रहालय को भी देखने का अवसर मिला।

Nepal Yatra 2019-1
Nepal Yatra 2019-2
Nepal Yatra 2019-3
Nepal Yatra 2019-4
Nepal Yatra 2019-5
Nepal Yatra 2019-5.jpeg
Nepal Yatra 2019-6

 

Share On :

Recent Posts

राष्ट्रीय प्रवक्ता भारतीय जनता पार्टी । पूर्व सांसद । वरिष्ठ राजनीतिज्ञ । स्वयंसेवक । प्रखर हिंदूवादी । प्रबुद्ध विचारक । गहन आध्यात्मिक चिंतक । राष्ट्रभक्त

Get In Touch